भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

ह्री

दक्ष प्रजापति की एक कन्या जो धर्म को ब्याही थी।
संज्ञा
स्त्री.
(सं.)

ह्लाद

आनंद, प्रफुल्लता।
संज्ञा
पुं.
(सं.)

ह्लादन

आनंदित करना।
संज्ञा
पुं.
(सं.)

ह्लादिनी

प्रफुल्लित करनेवाली।
संज्ञा
स्त्री.
(सं.)

ह्वाँ

उस स्थान पर, वहाँ।
अव्य.
(हिं. वहाँ)
उ.-(क) यह सुनि ह्वाँ तैं भरत सिधायौ-५-३। (ख) जाइ करौ ह्वाँ बोध सबनि कौं-पृ. ३६६ (८३)।

ह्वैं

वहीं।
अव्य.
(हिं. वहाँ + ही)

ह्वै

होकर।
क्रि.अ
(हिं. होना)
उ.-जाति चली धारा ह्वै अध कौं-६३७।

ह्वै

ठाढ़े ह्वै-खड़े होकर।
प्र.
उ.-बिछुरन भेंट देहु ठाढ़े ह्वै-पृ. ४६० (३२)।

ह्वै

भिन्न या परिवर्तित रूप धारण करके।
क्रि.अ
(हिं. होना)

ह्वै

ह्वै गए- हो गये, बन गये।
प्र.
उ.-छोरी बंदि बिदा किए राजा, राजा ह्वै गए राँकौ-१-११३।

ह्वै

बनकर।
क्रि.अ
(हिं. होना)
उ.-अंग सुभग सजि ह्वै मधु मूरति, नैननि माँह समाऊँ-१०-४९।

ह्वै

जन्म लेकर, शरीर धारण करके, अवतार लेकर।
क्रि.अ
(हिं. होना)
उ.-(क) सोई सगुन ह्वै नंद की दाँवरी बँधावै-१-४। (ख) नरहरि ह्वै हिरनाकुस मारथौ-१-११३। (ग) दंतबक्र सिसुपाल जो भए, बासुदेव ह्वै सो पुनी हए-१०-२।

ह्वैहैं

(कार्य आदि) आरंभ या संपादित होंगे।
क्रि.अ
(हिं. होना)
उ.-ह्वैहैं जज्ञ अब देव मुरारी- ७-२।

ह्वैहैं

होंगे, बनेंगे।
क्रि.अ
(हिं. होना)
मुहा.- कौन के ह्वैहैं-किसके सगे या आत्मीय होंगे। उ.-काके भए कौन के ह्वैहैं, बँधे कौन की डोरी-पृ. ४९८ (६३)।

ह्वैहै

जन्म लेगा, जन्मेगा।
क्रि.अ
(हिं. होना)
उ.-(क) ता रानी सेंती सुत ह्वैहैं-६-५। (ख) पाछैं भयौ, न आगैं ह्वैहैं, सब पतितनि सिरताज-१-९६।

ह्वैहै

घटित होगा।
क्रि.अ
(हिं. होना)
उ.-सूरदास प्रभु रची सु ह्वैहैं-१-२६४।

ह्वैहौं

होऊँगा।
क्रि.अ
(हिं. होना)
उ.-नंद राइ, सुनि बिनती मेरी तबहिं बिदा भल ह्वैहौं-१०-३५।

ह्वैहौं

बनूँगा, कहलाऊँगा।
क्रि.अ
(हिं. होना)
उ.-ह्वैहौं पूत नंद बाबा कौं, तेरौ सुत न कहैहौं-१०-१९३।

Abaxial surface

अपाक्ष पृष्ठ

Abdomen

उदर

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App