भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Itihas Paribhasha Kosh (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Brigandage

बटमारी, लुंठन, राहजनी
यात्रियों या पथिकों को मार्ग में लूट या मार कर उनका धन, संपत्ति आदि छीन लेना।

British Commonwealth of Nations

ब्रिटिश कॉमनवेल्य, राष्ट्रमंडल
ब्रिटेनी राष्ट्रों का समुदाय और वे आश्रित क्षेत्र, जो ब्रिटिश ताज के प्रति समान निष्ठा, समान हितों और आस्थाओं के कारण स्वेच्छया एक दूसरे से आबद्ध रहते हैं।
राष्ट्रमंडल के अंतर्गत ग्रेट ब्रिटेन के संयुक्त राज्य और उत्तरी आयरलैंड, आस्ट्रेलिया, बारबदोस, बोत्सवाना, कनाडा, साइप्रस, जाम्बिया, घाना, गिनी, भारत, जमाइका, केन्या, लेसोथो, मलावी, मलेशिया, माल्टा, न्यूजीलैंड, नाइज़ीरिया, रोडेशिया सियरालियोन, सिंगापुर, तंजानिया, ट्रिनिडाड और टोबेगो, उगाँडा और ब्रिटेनी उपनिवेश तथा संरक्षित और न्यासधारी क्षेत्र और प्रदेशादि सम्मिलित हैं।

Brown Shirts (=The Nazis)

ब्राउन शर्ट्स, भूरी कुर्ती दल
सन् 1919 में स्थापित जर्मनी का नात्सी दल, जिसके सदस्य भूरे रंग की कमीज पहनते थे और उन्हें भूरी कुर्त्तीधारक कहा जाता था। सन् 1912 ईo में एडोल्फ हिटलर इस दल का नेता बना।

Brussels Treaty (Pact) organisation (=Western Europeon union)

ब्रुसेल्स संधि संगठन
मार्च, सन् 1948 ईo में स्थापित वर्तानिया, नीदरलैंड, लक्समबर्ग, बैल्जियम तथा फ्रांस के मध्य स्थापित सुरक्षात्मक संधि संगठन, जिसे ‘पश्चिम यूरोपीय संघ’ भी कहा जाता था। संधि के अनुसार, यह माना गया कि किसी सदस्य देश पर आक्रमण सभी सदस्यों पर आक्रमण समझा जाएगा। इस संघ की रक्षा के लिए व्यापक सैनिक संगठन बनाया गया, जिसे ‘यूनी फोर्स’ की संज्ञा दी गई। इस का मुख्य कार्यालय फान्टेन ब्लू में स्थित था। बाद में, यह संगठन ‘नाटो’ में विलीन हो गया।

Buff

1. महिष चर्म
भूरे रंग की भैंस या पांडु रंग के वृषभ के वर्ग के लिए प्रयुक्त शब्द, जो बाद में सभी पशुओं के ऐसे चर्म के लिए प्रयुक्त किया जाने लगा, जो पीला या हल्का भूरा, मुलायम और रोएँदार होता था। महिष चर्म, पेटी, म्यान आदि बनाने के काम में आता रहा है।

Buff

2. लघु कोट
भैंस के चमड़े से बना मोटा और छोटा कोट, जिसे विशेषतया 17 वीं शती में, इंग्लैंड के सैनिक और अमरीकी उपनिवेशक धारण करते थे। इस जर्किन या कुर्त्ती पर तलवार के वार का असर नहीं होता था।

Buff-coat

बफ़-कोट
भैंस के चमड़े से बना मोटा और छोटा कोट, जिसे विशेषकर सत्रहवीं शताब्दी में, यूरोपीय सैनिक धारण करते थे।

Buffs

बफ़-रेज़िमेंट
ब्रिटिश सेना की ईस्ट कैन्ट रेज़िमेंट, जिसका पुराना नाम ‘तीसरी रज़िमेंट’ (Third Regiment) था। इसके फीते आदि के पांडु या हल्के भूरे रंग के कारण इसे बफ रेज़िमेंट या पांडु रंग की रेज़िमेंट कहा जाता था।

Bule (=council)

ब्यूल
1. प्राचीन एथेंस की परिषद्, जिसकी स्थापना सोलोन (जन्म : 640-मृत्यु 559 ईo पूo) ने की थी। मूलतः इसके चार सौ सदस्य थे, किंतु समय-समय पर, इसके सदस्यों की संख्या घटती-बढ़ती रही। यह एथेंस की विधायी, परामर्श दात्री और प्रशासनिक परिषद् थी।
2. आधुनिक यूनान की पार्लियामेंट का निम्न सदन; यूनानी विधायी परिषद।

Burgage

पट्टेदारी
भूमि संबंधी पुराने ढंग का बंदोबस्त;
राजा या प्रधान जमीदार द्वारा दी गई भूमि की विशिष्ट पट्टेदारी, जिसका वार्षिक लगान नकदी के रूप में दिया जाता था। यह प्रथा प्राचीन इंग्लैंड के बरों में प्रचलित थी।
स्कॉटलैंड में भी पट्टेदारी की यह प्रथा थी। इसके अनुसार शाही बरो निवासी, राजा या महासामंत की सैनिक सेवा, राजकीय भूमि की चौकीदारी के रूप में करते थे।

Burgess

पौर प्रतिनिधि
1. नगर का प्रतिनिधि। इसे आजकल पार्लियामेंट का सदस्य कहा जाता है।
2. ब्रिटिश बरो का नागरिक।
3. नगर या बरो का न्यायाधीश; शासी निकाय का सदस्य, विशेषतया, पेन्सेलवानिया के बरो का प्रमुख प्रशासनिक अधिकारी।

Byzantine

बाईजेन्टिनी
बाइजेन्टियम का निवासी; बाइजेन्टियम में रहने वाला।
बाइजेन्टियम नामक यूनानी (डोरिक) उपनिवेश की स्थापना, बासफोरस के पश्चिम तट पर, बाइजस ने 660 ईo पूo में की थी। लगभग 540 ईo पूo में, ईरान ने इस उपनिवेश पर अधिकार कर लिया। लगभग 355 ईo पूo में, इस नगर ने स्वतंत्रता प्राप्त कर ली। पहली शती ईo में यह रोमन साम्राज्य का अंग बन गया। सन् 330 ईo में सम्राट कान्सटेन्टाइन ने, इस नगर का पुनर्निर्माण आरंभ किया और इसका नाम कान्सटेन्टिनोपल रखा, जिसे ‘कुस्तुन्तुनिया’भी कहा जाता है। आजकल इसे ‘इस्तम्बूल’ कहा जाता है।

Byzantine church

बाइजेन्टिनी गिरजाघर
बाइजेन्टियम या कान्सटेन्टिनोपल के अधिकार-क्षेत्र के अन्तर्गत पूर्वीय गिरजा घर या गिरजाघरों का समूह।

Byzantine Empire

बाइजेन्टिनी साम्राज्य; पूर्वी रोम साम्राज्य
सन् 284 ईo में, सम्राट डायोक्लिशियन (सन् 245-313 ईo) के काल में, रोम साम्राज्य, पूर्वीय और पश्चिमी दो भागों में विभक्त हो गया और थियोडोसियस महान् (सन् 346-395 ईo) की सन् 395 ईo में मृत्यु के उपरांत पूर्वीय रोमन साम्राज्य पश्चिमी साम्राज्य से अलग हो गया। कालांतर में, 29 मई 1453 ईo के दिन पूर्वी रोमन साम्राज्य का अंत हो गया।
इसके फलस्वरूप यूनानी विद्वान और दार्शनिक कुस्तुन्तुनिया से भाग कर इटली के नगरों में जा बसे, जिसके कारण यूरोप में पुनर्जागरण का आरम्भ हुआ।

Byzantine Era

बाइजेन्टिनी संवत्
विश्व के काल्पनिक उद्भव की तिथि का निर्धारक संवत जिसका आरम्भ ईसवी संवत् के आरम्भ होने से 5.508 वर्ष और चार मास पूर्व माना जाता है। पूर्वी गिरजाघरों में आज भी यह संवत् प्रचलित है। यह उल्लेख्य है कि नगरीय वर्ष एक सितम्बर तथा धार्मिक वर्ष 21 मार्च या एक अप्रैल से आरम्भ होता है।

Byzantine historians

बाइजेन्टिनी इतिहासकार
पूर्वी रोम साम्राज्य की छठी से पंद्रहवीं शती के मध्य हुए इतिहास लेखक। इनमें प्रोकोपियस (लगभग सन् 500 से 570 ईo), एनाकोम्नेना (सन् 1083-1148 ईo) आदि प्रमुख हैं।

Cabal

काबेल, षडयंत्रकारियों का गुट
चार्ल्स द्वितीय (सन् 1630-1685 ईo) की प्रीवी काउंसिल के पाँच सदस्यों के नामों के आद्यक्षरों, क्लिफोर्ड (Clifford) के C, एश्ले (Ashley) के A, बकिंघम कूपर (Buckingham Cooper) के b, आरलिंगटन (Arlington) के, तथा लाउडरडेव (Lauderdab) के L के योग से बना शब्द।
क्लेरेंडन के पतन के उपरान्त, काबेल ने, कार्यपालिका-कार्यों में महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा की। 17 वीं शताब्दी में, इस नाम का प्रयोग प्रायः ‘राजा के आंतरिक सलाहकारों’ के अर्थ में होने लगा।

Caesarism

सीज़रतंत्र
रोम के सम्राट जूलियस सीज़र (102-44 ईo पूo) के शासन की तरह निरंकुश शासन।
49 ईo पूo में अधिनायकवादी सीज़र ने, सेना तथा जनता का समर्थन प्राप्त कर, सरकार पर अधिकार स्थापित किया था, इसीलिए सैनिक साधनों द्वारा राजसत्ता पर अधिकार को ‘सीज़रतंत्र’ कहा जाता है।

Caliph

खलीफ़ा
हज़रत मुहम्मद के उत्तराधिकारियों की पदवी। खलीफ़ा इस्लाम के अनुयायियों के लौकिक तथा आध्यात्मिक शासक होते थे। हज़रत मुहम्मद के पश्चवर्ती प्रथम चार खलीफ़ा (अबू बक्र सन् 632-634 ईo), उमर (सन् 634-644 ईo), उस्मान (सन् 644-656 ईo) तथा अली (सन् 656-661 ईo) था।
मुसलमानों का एक वर्ग प्रथम तीन को खलीफ़ा नहीं मानता और हज़रत मुहम्मद साहब के दामाद, अली को ही प्रथम खलीफ़ा मानता रहा है। आगे चल कर यह वर्ग ‘शिया’ कहा जाने लगा। अली के पश्चात् उमैया (सन् 661-750 ईo), अब्बासी (सन् 750 से 1258 ईo), बुवेयिद (सन् 932-1055 ईo) तथा सल्जुक (सन् 1075-1242 ईo) वंशों के व्यक्ति खलीफ़ा पद पर आसीन हुए।
अब्बासी खलीफ़ाओं के बाद, खलीफ़ा की पदवी अनेक मुस्लिम शासकों ने धारण की। तुर्की के सुल्तानों ने भी यह पदवी (3 मार्च, सन् 1924 ईo तक) धारण की।

Calligrapher

खुशनवीस, सुलेखक
सुंदर शोभाप्रद या कलात्मक रीति से अक्षरों को लिखने वाला व्यक्ति।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App