भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Metallurgy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Cadmium copper

कैडमियम तांबा
कैडमियम और तांबे का मिश्रातु जिसमें 0.5-1% तक कैडमियम होता है। कैडमियम मिलाने से तनन-सामर्थ्य में 50% की वृद्धि हो जाती है जबकि विद्युत चालकता में कोई कमी नहीं आती। इसका उपयोग टेलीफोन आदि के तारों, विद्युत चालकों और कुछ औद्योगिक इलेक्ट्रोडों को बनाने में होता है।

Cadweld

कैडवेल्डिंग
तांबे का तांबे के साथ अथवा तांबे का इस्पात के साथ वेल्डिंग करने की एक विधि। इसमें ऊष्मा के किसी बाहरी स्रोत की आवश्यकता नहीं होती है। यह विधि थर्मिट वेल्डिंग के समान है, केवल अंतर यह है कि इसमें लोह ऑक्साइड के स्थान पर कॉपर ऑक्साइड का प्रयोग किया जाता है। इसमें ऐलुमिनियम द्वारा कॉपर ऑक्साइड के अपचयन से लगभग 2185°C पर गलित तांबा और धातुमल के रूप में ऐलुमिनियम ऑक्साइड प्राप्त होते हैं।

Calamine

कैलेमिन
जलयोजित जिंक सिलिकेट, H₂ (Zn₂O) SiO₄ जिसमें 54.2% यशद या 67.5% ZnO होता है। यह अक्सर स्मिथसोनाइट (Zn CO₃) के साथ पाया जाता है। यह संस्तरों और शिराओं में पाया जाता है। इसकी मोती जैसी चमक होती है। कठोरता 5, आपेक्षिक घनत्व 4-4.5।

Calcareous ore

कैल्सियमी अयस्क
देखिए–Ore के अंतर्गत

Calcination

निस्तापन
एक तापीय अपघटन प्रक्रम जिसमें किसी अयस्क, खनिज, शैल, तथा उच्चतापसह पदार्थों आदि से जलवाष्प, कार्बन डाइऑक्साइड तथा सल्फर डाइऑक्साइड आदि वाष्पशील घटकों को पृथक किया जाता है। इस प्रक्रम की विशेषता यह है कि इसमें धान अथवा उत्पाद को संगलित नहीं होने दिया जाता, जबकि भर्जन में ठोस और गैस की अभिक्रिया होती है।
रासायनिक दृष्टि से —
S₁ = S₂ + G (निस्तापन)
S₁ +G = S₂ + G₂ (भर्जन)
जबकि S कोई ठोस और G कोई गैस है।

Calcine

निस्ताप
किसी शैल, अयस्क, खनिज एवं उच्चतापसह पदार्थों के निस्तापन के फलस्वरूप प्राप्त उत्पाद। कभी कभी भर्जित संहति को भी निस्ताप कहते हैं यद्यपि यह उचित प्रयोग नहीं है।

Calcite

कैल्साइट
कैल्सियम कार्बेनेट की प्राकृतिक किस्म जो षट्कोणीय समुदाय में क्रिस्टलित होती है। पूर्णतया पारदर्शी कैल्साइट को आइसलैंड स्पार कहते हैं। द्विअपवर्ती होने के कारण इसका उपयोग प्रकाशिक यंत्रों में प्रकाश-ध्रुवण के लिए होता है। कठोरता 3, आपेक्षिक घनत्व 2.7। कभी कभी यह चूने के पत्थर के स्थान पर गालक के रूप में भी होता है।

Calloy

कैलॉय
ऐलुमिनियम और कैल्सियम का मिश्रातु जिसमें 10–25% कैल्सियम होता है। इसका उपयोग इस्पात निर्माण में विऑक्सीकारक के रूप में होता है।

Calmalloy

कैल्मेलॉय
एक निकेल-मिश्रातु जिसमें 69% निकैल, 29% तांबा और 2% लोहा होता है। इसका (0.100°C के बीच) उच्च चुंबकीय ताप गुणांक होता है। इसका उपयोग विद्युत यंत्रों में ताप प्रतिकार के लिए किया जाता है।

Calmet

कैल्मेट
एक ऑक्सीकरणरोधी इस्पात जिसमें 12% निकैल, 25% कोबाल्ट, 5% ऐलुमिनियम और शेष लोहा होता है। यह गंधक युक्त वायुमंडल रोधी भी होता है। इसका उपयोग 1050°C तक प्रयुक्त होने वाले भ्राष्ट्र घटकों के निर्माण में होता है।

Calomel

कैलोमल
मर्क्यूरस क्लोराइड। यह खनिज हार्न क्विक सिल्वर के रूप में पाया जाता है और विषमलंबाध प्रिज्मों में क्रिस्टलित होता है। इसका रंग भूरा या धूसर होता है और बहुधा खनिज सिनाबार के साथ संयुक्त रहता है। कठोरता 1-2, आपेक्षिक घनत्व 6.48।

Calorizing

कैलोराइजन
950°C ताप तक मृदु और न्यून-मिश्रातु इस्पातों के ऑक्सीकरण प्रतिरोध को बढ़ाने की विधि। इसमें वस्तुओं पर ऐलुमिनियम चूर्ण का लेप कर उन्हें 1000°C तक गरम किया जाता है जिससे वस्तु के ऊपर ऐलुमिना का लेप जमा हो जाता है। यह लेप इस्पात के ऊपर लो-ऐलुमिनियम मिश्रातु की परत द्वारा जुड़ा रहता है।

Campbell process

कैंपबेल प्रक्रम
क्षारकीय ओपनहार्थ प्रक्रम की संशोधित विधि। इसमें नत भ्राष्ट्र में कच्चे लोहे और अपशिषट के घान को कम ताप पर पिघलाया जाता है। इससे फॉस्फोरस और सिलिकन प्रायः निकल जाते हैं। साथ ही कुछ मैंगनीज और गंधक भी अलग हो जाते हैं किंतु कार्बन की मात्रा कम नहीं होती है। इस्पात को एक लैडल से निकालकर उसे धातुमल से पृथक कर लिया जाता है। अंत में उसे अम्लीय ओपनहार्थ भट्टी में डालकर अम्ल-धातुमल के साथ ठंडा किया जाता है।

Can

कैन
न्यूक्लीय रिएक्टर में ईंधनतत्व के चारों और बाहरी संरक्षी आवरक रिएक्टर के प्रकार के अनुसार इस कार्य के लिए जर्कोनियम, और ऐलुमिनियम मिश्रातुओं अथवा ऑस्टेनाइटी स्टैनलैस इस्पात का प्रयोग किया जाता है।

Cannel coal

कैनेल कोयला
सामान्य बिटुमिनी कोयले के संस्तर के ऊपर अथवा स्वयं संस्तर की पट्टी के रूप में पाया जाने वाला कोयला। यह ड्यूरेन के समान दिखाई देता है किंतु इसकी अत्यंत सूक्ष्म कणिक सभांगी संरचना होती है और यह विभंग के साथ टूटता है। इसकी विशेषता यह है कि यह आसानी से जलता है और मोमबत्ती के समान दीप्त ज्वाला देता है।

Capacitative heating

संधारितात्मक तापन
अचालक पदार्थों को परावैद्युत हानियों द्वारा गरम करना। ये परावैद्युत हानियाँ, पदार्थों को विद्युत प्रत्यावर्ती क्षेत्र में रखने से उत्पन्न होती है।

Capped steel

छादित इस्पात
नेमीयित इस्पात में होने वाले संपृथकन को रोकने के लिए, साँचे को पिघली धातु से भरने के बाद उसके ऊपरी भाग पर ढलवाँ-लोहे की एक टोपी चढ़ा दी जाती है। संपिडन से उत्पन्न गैसें इस टोपी से जाकर टकराती हैं जिससे दाब उत्पन्न होने के कारण गैसों का निकलना शीघ्र रुक जाता है। इससे एक संकीर्ण नेभीयित क्षेत्र बन जाता है जिसमें संपृथकन बहुत कम होता है। इस प्रकार प्राप्त इस्पात में वात छिद्र शिलिका पृष्ठ से 0.65 सेमी० गहराई तक ही सीमित रहते हैं जबकि टोपी रहित साँचे में बने नेमीयित इस्पात में वातछिद्र पृष्ठ से पर्याप्त गहराई तक पाए जाते हैं।

Capillary dip infiltration

केशिका निमज्ज अंतःस्यंदन
देखिए– Infiltration के अंतर्गत

Capsule metal

कैप्स्यूल धातु
तन्य सीस मिश्रातु जिसमें 8% वंग और 92% सीसा होता है। इसका उपयोग संघटट् उत्सारण द्वारा उत्पन्न नलिकामय पात्रों में होता है।

Carat

कैरट
(1) इस शब्द का प्रयोग स्वर्ण की शुद्धता व्यक्त करने के लिए किया जाता है। शुद्ध स्वर्ण 24 कैरेट अथवा ‘1000 परिष्कृत अंक’ वाला होता है। स्वर्ण-मिश्रातुओं की शुद्धता निर्धारित करने के लिए यह ज्ञात किया जाता है कि उन मिश्रातुओं के 24 भागों में स्वर्ण के कितने भाग हैं। इस प्रकार 18 कैरेट स्वर्ण से यह तात्पर्य है उस मिश्रातु के 24 भागों में 18 भाग स्वर्ण है जिसे 75% स्वर्ण युक्त अथवा 750 परिष्कृत अंक वाला भी कह सकते हैं।
(2) एक कैरेट 200 मिलीग्राम के बराबर भी होता है। इस माप का प्रयोग बहुमूल्य पत्थरों का भार व्यक्त करने में भी होता है।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App