भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Metallurgy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Y-alloy

Y- मिश्रातु
ऐलुमिनियम मूलक मिश्रातु जो छड़- चादर अथवा प ट्टी के रूप में उपलब्ध रहता है। यह ढलवाँ अथवा पिटवाँ घटकों के लिए उपयुक्त रहता है। इसमें 3.5–4.5 प्रतिशत तांबा, 1.2-1.7 प्रतिशत मैग्नीशियम, 1.8–2.3 प्रतिशत निकैल 0–0.6 प्रतिशत लोहा, 0.2–0.6 प्रतिशत सिलिकन और शेष ऐलुमिनियम, होता है। पट्टी-धातु में सीसा, वंग और जस्त नहीं होने चाहिए। कम ताप-प्रसार गुणांक होने के कारण इसका उपयोग पिस्टनौं और सिलिंडर शीर्षों को बनाने के लिए होता है।

Yellow brass

पीत पित्तल
65/35 किस्म के पीतल के लिए प्रयुक्त शब्द। अनीलित अवस्था में इसका तनन-सामर्थ्य लगभग 20 टन प्रति वर्ग इंच होती है जिसे कठोर-बेल्लन द्वारा 34 टन प्रति वर्ग इंच तक बढ़ाया जा सकता है। सामर्थ्य में वृद्धि से तन्यता में पर्याप्त कमी आ जाती है और दैर्ध्यवृद्धि 60 प्रतिशत से घटकर लगभग 5 प्रतिशत रह जाती है। इसमें, मशीननीयता को बढ़ाने के लिए 3 प्रतिशत सीसा मिला रहता है। उच्च सामर्थ्य संचकन के लिए लगभग 2 प्रतिशत लोहा, 1.5–5 प्रतिशत मैंगनीज, 0.5–1.5 प्रतिशत वंग विद्यमान रहता है और इस अवस्था में तांबे की मात्रा 56-62 प्रतिशत रहती है।

Yellow metal

पीत धातु
कभी-कभी 60-40 किस्म के पीतल के लिए प्रयुक्त नाम जिसमें 1–3 प्रतिशत सीसा होता है। इसे मुंट्ज धातु और आधातवर्ध्य पीतल भी कहते हैं।

Yield

1. लब्धि 2. पराभव
परिसज्जित उत्पाद के भार का अपरिसज्जित पदार्थ के भार के साथ अनुपात। फोर्जन में नेट भार को कुल भार से भाग देने से प्राप्त भागफल। बेल्लन के संदर्भ में बेल्लित उत्पाद के भार को पिंड भार से भाग देने पर प्राप्त भागफल।

Yield point

पराभव बिंदु
1. न्यूनतम प्रतिबल जिस पर किसी छड़, तार इत्यादि की बिना भार बढ़ाए, दैर्ध्यवृद्धि होती है। 2. अधिकतम प्रतिबल जिसे विशिष्ट भार के प्रभाव में कोई परीक्ष्य. वस्तु सुघट्य विरूपण के बिना सह सकती है।

Yield strength

पराभव सामर्थ्य
विशिष्ट बार के प्रभाव में रखे पदार्थ के सुघट्य विरूपण के लिए प्रतिरोध की माप जो लगभग प्रत्यास्थ सीमा के बराबर होता है। वह प्रतिबल जिस पर कोई पदार्थ विशिष्ट सीमक स्थायी विरूपण व्यक्त करता है।
देखिए– Proof stress

Young’s modulus

यंग मापांक
प्रत्यास्थता सीमाओं के अंदर, प्रतिबल का संगत विकृति के साथ अनुपात। यदि प्रतिबल (S) को टन प्रति वर्ग इंच में और विकृति (I) को लंबाई के इकाई मात्रक में हुई दैर्ध्यवृद्धि से व्यक्त किया जाए तो यंग-गुणांक (Y) को इस प्रकार व्यक्त किया जा सकता है:–
S
Y= ——
I

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App